WordPress Page Builder kya hai

WordPress Page Builder kya hai इस आर्टिकल को beginners को ध्यान में रखकर लिखा गया है इसलिए आज के आर्टिकल में आपको WordPress Page Builder के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी और साथ में आपको इसके फ़ायदे ओर नुक़सान के बारे में भी पढनें को मिलेगा |

दोस्तों wordpress CMS(content management system) है जिसमें हम अपनें content को आसानीं से manage कर सकते है और wordpress को बनाया ही इसलिए है ताकि content को manage किया जा सके |

wordpress page builder kya hai

WordPress Page Builder kya hai

दोस्तों अगर आप पेज बिल्डर का इस्तेमाल करते हैं तो आपनें कभी सोचा है कि WordPress Page Builder kya hai है ओर इसकी ज़रूरत क्यों पड़ी |

दोस्तों Page Builder के नाम से पता चलता है कि किसी पेज को बनानें वाला, यानीं WordPress Page Builder से pages बनाए जाते हैं |

पेज बिल्डर से आप किसी भी तरह की कस्टम डिज़ाइन बना सकते हैं बिना किसी कोडिंग नोलेज के, पेज बिल्डर हमें आज़ादी देता है पूरे पेज को customize करने की |

दोस्तों पेज बिल्डर wordpress dashboard के अंदर content एडिटिंग का एक टूल है जिसके इस्तेमाल से हम बार-बार, लगातार और जल्दी-जल्दी पेज बना सकते हैं |

अगर सरल भाषा में कहें तो पेज बिल्डर एक plugin है wordpress की जिसकी सहायता से पेजों को बनाया जाता है |

WordPress Page Builder की ज़रूरत

दोस्तों WordPress Page Builder की ज़रूरत आज लगभग वेबसाइटों को होती है जिसके कई कारण हैं और सबसे बड़ा कारण है कस्टम डिज़ाइन करना |

WordPress की शुरूवात में पेज बिल्डर नहीं हुवा करता था, पहले के समय में wordpress एडिटर हुवा करता है जिसके इस्तेमाल से पोस्ट लिखी जाती थी और पेज बनाए जाते थे | फिर जैसे-जैसे wordpress में update आए तो plugin को add कर दिया गया जिससे एक्स्ट्रा ऑप्शन मिलनें लगे यूज़र को |

उन एक्स्ट्रा ऑप्शन में से एक है WordPress पेज बिल्डर | दोस्तों ये कोई ज़रूरी नहीं है या अनिवार्य नहीं है की आपको पेज बिल्डर लेना ही होगा, पेज बिल्डर के बिना आप काम नहीं कर सकते ये कोई ज़रूरी नहीं है |

ये सब आप पर और आपके कस्टमर पर निर्भर करता है की आप अपनीं website में पेज बिल्डर का इस्तेमाल करते हैं या नहीं |

चलिए आगे अब बात कर लेते हैं की आख़िर WordPress Page Builder की ज़रूरत क्यों पड़ी,

दोस्तों WordPress CMS है जिसे यूज़र को ध्यान में रखकर बनाया गया है, और Page Builder को भी यूज़र को ध्यान में रखकर बनाया गया है जिसके इस्तेमाल से यूज़र बिना किसी programming skills के पेज ओर पोस्ट को कस्टमायज़ कर सकता है |

चलिए आगे बात करते हैं WordPress Page Builder के फ़ायदे और नुक़सान के बारे में |

और भी आर्टिकल हैं जिन्हें आपको पढ़ना चाहिए क्या पता किस आर्टिकल से आपकी सहायता हो जाए –

  1. Domain क्या होता है ?
  2. WordPress Dashboard tutorial
  3. HTML क्या है ?

पेज बिल्डर की लिस्ट आप wordpress की official website पर देख सकते हैं |

WordPress Page Builder के फ़ायदे

अगर हम फ़ायदों की बात करें तो पेज बिल्डर से काफ़ी फ़ायदे हैं जीनके बारे में नीचे आपको बताया गया है |

कोडिंग की ज़रूरत नहीं

दोस्तों WordPress Page Builder का सबसे बड़ा फ़ायदा यही है की आप बिना कोडिंग के एक अच्छे पेज को बना सकते हैं जिसके लिए आपको कोडिंग के ज्ञान की कोई ज़रूरत नहीं है |

आज-कल लगभग पेज बिल्डर में drag and drop का सिस्टम चलता है जिसकी सहायता से कस्टम डिज़ाइन को बनाना पहले से आसान है | इसके अलावा Page Builder से काम आसान होनें के साथ साथ fast भी होता है और content manage भी काफ़ी अच्छे तरीक़े से किया जा सकता है |

पहले से बनीं हुई डिज़ाइन

एक website बनानें के लिए सबसे ज़रूरी हिस्सा है उस website की डिज़ाइन करना और डिज़ाइन करना भी अपनें आप में एक चैलेंज होता है लेकिन अगर हमें पहले से बनीं हुई डिज़ाइन मिल जाए तो हमारा काम आसान हो जाता है |

ठीक यही बात लागू होती है WordPress Page Builder पर यानीं के पेज बिल्डर में पहले से बनीं हुई डिज़ाइन हमें मिल जाती है जिसका color, font-size, background आदि change कर के हम एक अच्छी डिज़ाइन तैयार कर सकते हैं |

जैसे कि अगर हमें अपनीं website में या किसी पेज में tabs चाहिए तो दोस्तों आजकल लगभग सभी पेज बिल्डर में tabs का option होता है जिसको हम बड़े ही आसानीं से पेज में add करके उन tabs का color, font-size, background, font-family आदि change कर सकते हैं और एक अच्छी डिज़ाइन बना सकते हैं |

Templates बनानें की क्षमता

wordpress पेज बिल्डर में Template बनानें की क्षमता होती है जिसके इस्तेमाल से हम एक बार tamplate बनाकर उसे बार-बार काम में ले सकते हैं |

दोस्तों template को एक example से समझानें की कोसिस करता हूँ, जैसे अगर आपकी एक website है जिसके home page पर 2 या 3 section है और वही section आपके inner पेजों में भी है जिसका मतलब हुवा की जो home page वाले सेक्शन हैं वो बार-बार रिपीट हो रहे हैं तो उस स्थिति में आप उन section की डिज़ाइन कर के उन्हें template में save करके उन्हें बार-बार काम में ले सकते हैं किसी भी पेज पर |

इस तरह template बनानें से हमें एक section की बार-बार डिज़ाइन करनें की ज़रूरत नहीं होती है |

last बात यह है दोस्तों की Template बनानें से टाइम की बचत होती है |

User-friendly editor

एक website बनानें के लिए कोडिंग करणें की ज़रूरत नहीं है आप बिना कोडिंग किए भी website बना सकते हैं और काफ़ी लोग है जो ऐसा कर रहे हैं क्योंकि पेज बिल्डर का जो एडिटर है वो काफ़ी सरल होता है जिससे कहीं भी परेसानीं नहीं होती है |

WordPress Page Builder के नुक़सान

दोस्तों सुख के पीछे दुःख होता है उसी प्रकार एक साइड फ़ायदा होता है तो दूसरी साइड नुक़सान भी होता है क्योंकि एक सिक्के के पहलू दो होते हैं और दोनों पहलू एक जैसे कभी नहीं होते है |

आइए अब बात करते हैं WordPress Page Builder के नुक़सान के बारे में |

Website Performance Issues

दोस्तों website को पेज बिल्डर से बनाना आसान है लेकिन पेज बिल्डर से बनीं website में आपको Performance Issues और स्पीड के issue देखनें को मिलेंगे क्योंकि पेज बिल्डर को ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुँचानें के लिए उसमें extra features add किए जाते हैं जिसके कारण website में extra CSS और JS का पंगा होता है जो कि website के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है |

Example के तौर पर मान लीजिए आपको अपनीं website में faq या tab या image lightbox नहीं चाहिए लेकिन पेज बिल्डर में ये feature पहले से बनें हुए होते हैं चाहे आप उनका इस्तेमाल करो या फिर मत करो |

उनकी CSS ओर JS का लोड पूरी website को झेलना पड़ता है जिसके कारण पेज का साइज़ बड़ा हो जाता है और website की स्पीड पर असर पड़ता है |

एक ओर बात है दोस्तों की अगर हमारी website की स्पीड कम है तो इससे website पर बुरा असर पड़ता है क्योंकि गूगल नें काफ़ी टाइम पहले ही एक update निकाला था जिसमें गूगल नें बताया की अगर किसी website की स्पीड मोबाइल में कम है तो उस website की रैंकिंग down कर दी जाएगी और अगर website की रैंकिंग नीचे चली जाती है तो वह website लोगों के सामनें नहीं आएगी |

मोबाइल के बाद दोस्तों अब desktop पर भी website की स्पीड का होना अनिवार्य कर दिया है इसलिए website की स्पीड का होना बहुत ज़रूरी है |

Free Version कम हैं

दोस्तों WordPress Page Builder में फ़्री वर्ज़न तो हैं लेकिन उनमें फ़ीचर कम होते हैं ज़्यादा फ़ीचर पानें के लिए हमें पैसे देने पड़ते हैं तो ये सबसे बड़े नुक़सानों में से एक है |

Conclusion

आज के आर्टिकल WordPress Page Builder kya hai में आपनें पढ़ा की WordPress Page Builder की ज़रूरत हमें क्यों है, WordPress Page Builder के फ़ायदे, WordPress Page Builder के नुक़सान आदि |

ऊम्मीद है दोस्तों WordPress Page Builder kya hai के आर्टिकल से आपकी कुछ सहायता हुई होगी, अगर आपकी कुछ मदद हुई है तो आप इस आर्टिकल को दूसरे लोगों लोगों के साथ share ज़रूर करें ताकि जिनको नहीं पता है WordPress Page Builder kya hai उनकी सहायता हो सके |

इसके अलावा अगर आपके कोई सवाल है तो आप नीचे कॉमेंट कर सकते हैं या मुझे ईमेल कर सकते हैं |

Leave a Comment