ब्रॉडबैंड क्या है | Broadband kya hai

Broadband kya hai – आजकल सभी के पास android है और सभी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो अगर इंटरनेट मोबाइल से चलाया जा सकता है तो फिर इस Broadband की क्या ज़रूरत है ? इसको क्यों लगाया जाता है ? इससे वो कौनसे फ़ायदे हैं जिनके कारण इन्हें लगाया जाता है.

आज के आर्टिकल Broadband kya hai में इसी विषय पर हम बात करने वाले हैं और इससे जुड़े सभी सवालों के जवाब आपको नीचे पढ़ने को मिल जाएँगे इसलिए आज के आर्टिकल को आप अंत तक ज़रूर पढ़ें.

Broadband kya hai (What is broadband in hindi)

ब्रॉडबैंड की फ़ुलफ़ॉर्म Broadband width होता है जिसके ज़रिए हमें हाई स्पीड इंटरनेट मिलता है. ब्रॉडबैंड को समझने से पहले आपको इंटरनेट क्या है के बारे में भी समझना चाहिए क्योंकि यह दोनों एक दूसरे से अलग नहीं है.

ब्रॉडबैंड वह टेक्नोलॉजी है जो कि high-capacity transmission को बताता है यानी कि हाई स्पीड का इंटरनेट, जिससे हम डेटा या कोई सूचना को काफ़ी तेज़ी से एक जगह से दूसरी जगह पर भेज सकते हैं काफ़ी कम समय में.

अगर आप मोबाइल से इंटरनेट चलाते हैं तो आपके इंटरनेट कि स्पीड कम होती है और अगर आपके मोबाइल से ही कोई और भी इंटरनेट का इस्तेमाल करता हो तो उस समय इंटरनेट की स्पीड और भी कम हो जाती है यानी कि अगर हम एक ही टाइम पर कई सारे यूजर एक साथ इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो स्पीड का कम होना लाज़मी है.

लेकिन अगर आपके पास ब्रॉडबैंड है तो आपको एक ही समय में कई सारे यूजर के डिवाइस में इंटरनेट की स्पीड एक समान देखनें को मिलती है.

ब्रॉडबैंड के प्रकार (Types of Broadband)

आगे बात करते हैं ब्रॉडबैंड के प्रकारों के बारे में की कोन-कौनसे हैं.

Digital subscriber line (DSL)

DSL copper के तारों में डेटा को भेजता है जो कि पहले से ही घरों और संस्थाओ में टेलीफोन लाइनों में लगे होते हैं यानी कि ये कॉपर के टार पहले से ही लगे हुए होते है और अगर कहीं नहीं होते हैं तो वहाँ लगा दिये जाते हैं.

इसमें इंटरनेट की स्पीड काफ़ी ज़्यादा होती है जो की हज़ारों Kbps से Mbps होती है. इसमें स्पीड का एक और सिस्टम होता है कि अगर आपका कनेक्शन स्टेशन के पास में है तो आपके इंटरनेट कि स्पीड ज़्यादा होगी और जितनी दूरी बढ़ेगी उतनी स्पीड में फ़र्क़ होगा.

Cable Modem

Cable Modem यूजर को 1.5 Mbps या उससे ज़्यादा की transmission speed देता है इसमें एक बड़ा ब्रॉडबैंड किसी कम्पनी के पास होता है और वह फिर यूजर को उसकी ज़रूरत के हिसाब से प्रोवाइड करती है जिससे यूजर डायरेक्ट केबल के ज़रिए इंटरनेट या फिर tv चला सकता है.

इसमें स्पीड केबल कम्पनी या यूजर के ज़रिये चुने गये option पर निर्भर करती है.

Fiber

इसमें डेटा को सँभालने का काम electrical signals करते हैं क्योंकि फ़ाइबर के ब्रॉडबैंड जो हैं वो fiber optic technology का इस्तेमाल करके electrical signals को light में बदलता है और light में बदले जाने के कारण इसकी स्पीड काफ़ी ज़्यादा हो जाती है यानी कि 10 से 100 mbps तक जो की काफ़ी होती है एक साधारण व्यवसाय के लिए.

Wireless

इसमें डेटा radio signals के ज़रिए transmit होता है जिससे सर्विस देने वाली कम्पनी अपने customer को बिना किसी तारों की सहायता के दूर बैठे इंटरनेट दे सकती है इसकी स्पीड भी DSL और cable के जैसी ही होती है.

Satellite

कह सकते हैं कि सैटेलाइट wireless broadband की तरह ही होता है लेकिन इसमें फ़रक यह है कि data transmit करने के लिए उपग्रहों का इस्तेमाल किया जाता है जो की पहले से earth के orbit में छोड़े हुए होते हैं.

इसका सबसे बड़ा example है spacex कम्पनी जो की अपनी Satellite के ज़रिए इंटरनेट पहुँचाने का काम करती है.

ब्रॉडबैंड के फ़ायदे (Advantage of broadband)

ब्रॉडबैंड के काफ़ी फ़ायदे हैं जिनके कारण आज के टाइम में इनका काफ़ी ज़्यादा इस्तेमाल हो रहा है, फ़ायदों के बारे में नीचे दिये गये पॉइंट्स को आप पढ़ सकते हैं.

Performance

broadband connection की सबसे बड़ी और ख़ास बात यही है की इसका प्रदर्शन काफ़ी शानदार है जिसके कारण लोग ब्रॉडबैंड का कनेक्शन लेना ज़्यादा पसंद करते हैं.

एक dial-up connection की तुलना में ब्रॉडबैंड 100x तक फ़ास्ट होता है.

Speed

एक तरफ़ अगर मोबाइल का इंटरनेट हो और एक तरफ़ ब्रॉडबैंड हो तो इन दोनों में इंटरनेट स्पीड का फ़र्क रात दिन का होता है.

आजकल लोग बड़ी-बड़ी फ़िल्में, गाने, वीडियो, ऑडियो आदि सभी इंटरनेट पर देखते हैं वो भी बिना किसी परेशानी के क्योंकि इसमें इंटरनेट कि स्पीड फ़ास्ट होती है जिसके कारण आपका ब्राउज़र कभी लोडिंग ही नहीं करता सब चीजें स्पीड में चलती हैं.

Better Support

broadband का सपोर्ट काफ़ी अच्छा है क्योंकि कस्टमर कोई भी परेशानी होने पर डायरेक्ट लाइव चैट करके अपनी परेशानी का हल प्राप्त कर सकता है.

यही बात ब्रॉडबैंड को मार्केट में ओरो से अलग बनाती है.

Security

ब्रॉडबैंड कनेक्शन में computers हमेशा आपके डेटा की सुरक्षा करता है ख़ास तोर से वायरलेस कनेक्शन पर जहां फ़ायरवॉल जैसी सुविधा कस्टमर को मिल जाती है.

Marketing

मार्केट में ब्रॉडबैंड आने के बाद यूज़र्स को हाई स्पीड इंटरनेट मिल रहा है जिसका फ़ायदा सभी व्यवसायों को हुवा है क्योंकि लोग अपना व्यापार बढ़ाने के लिए online marketing कर रहे हैं जिससे व्यवसाय के बारे में ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के सामने लाया जा सके.

Conclusion

Broadband kya hai इसका जवाब आपको मिल गया होगा और इसके फ़ायदे पढ़कर आपके ये भी पता चल गया होगा कि लोग ब्रॉडबैंड को क्यों लगाते हैं आपने घरों या फिर अपने ऑफ़िसों में.

Broadband कम पैसों में हाई स्पीड इंटरनेट देता है जिससे ऑनलाइन काम करना या इंटरनेट से जुड़े काम करना, मनोरंजन करना आसान और फ़ास्ट हो गया है.

Leave a Comment